Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी क्या है

आज हम whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में जानकारी  दूंगा , whatsapp अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी क्यो लाया 

क्या हमें whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी से डरना चाहिए , whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी हमारी किन किन चीजों का एक्सेस लेगी 

तो नमस्कार दोस्तो आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को डिटेल में समझेंगे ओर आपको ये सारी जानकारी हिंदी में मिलने वाली है , 

इस पोस्ट को पूरा देखने के बाद आपको कही पर भी ये सर्च नही करना पड़ेगा कि whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी क्या है , तो चलिए आज का ब्लॉग स्टार्ट करते है

WhatsApp new privacy policy in Hindi



Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी क्या है


देखिए 8 फरवरी 2021 से , whatsapp ने जो अपना नया पॉलिसी को लाया है , उसको कह रह है एग्रि कीजिये वरना आपका whatsapp बंद हो जाएगा ,

आखिर ये क्यो कर रहा है और हम पर इसका क्या इफेक्ट पड़ेगा , ओर क्या हमें signal या telegram पर शिफ्ट हो जाना चाहिए , या नही इसको समझ लीजिए , देखिए  whatsapp , facebook, instagram , ये तीनों के मालिक एक ही है , एक ही कंपनी है , इस पर Mark Zuckerberg खेल रहा है ,


 वो इसको देखना चाहते है , किस तरह से Google की तरह से , जिस तरह से Google आया , ओर गुगल की ही कई सारी कंपनीज है , Google का ही एक हिस्सा है आपका Google का जीमेल , Google location , drive , cloud, Google एडसेंस ओर हा Google का ही है आपका यूट्यूब ओर वो ये देखना चाहते है की हम किस तरह से जो हमारी facebook है वो Google को कॉम्पिटिट कर सके , इसी लिए वह इन सारी चीजों को ला रहे है , ओर बड़ी बड़ी कंपनियों को एक्वायर कर रहे है ,


अब इस जगह facebook को लगा कि गलती हो गयी , देखिए जब 2009 में whatsapp की खोज हुई थी ना , उस समय whatsapp की खोज massage करने के लिए हुई थी  क्योकि उस समय एक मैसेज करने के लिए 1 रुपया लगता था , ओर whatsapp ने कहा हम Free massage की सुविधा देंगे और आपकी प्राइवेसी पॉलिसी का भी ध्यान रखेंगे मतलब आपके द्वारा किये गए मेसेज को सुरक्षित रखेंगे और आपकी वीडियो कॉल को भी रिकॉर्ड नही किया जाएगा , ओर इसने बहुत कम चार्ज किया था 1 डॉलर साल का चार्ज किया था , 


अब क्या हुआ इसे facebook ने 19 billion डॉलर में खरीद लिया , facebook लगभग 70 billion डॉलर कमाता है लगभग 5 लाख करोड़ रुपया , अब इसके 70 billion यानी 5 लाख करोड़ में whatsapp सही से भूमिका नही निभा पा रहा है जिस प्लानिंग के साथ facebook ने whatsapp को खरीदा था , 


अब facebook अपने ad को बेहतरीन बनाने के लिए , रेवेन्यू ज्यादा कमाने के लिए ये new update लाया है , हूबहू जैसे google कर है है वैसे ही ये भी कर रहा है , कुछ ज्यादा अंतर नही है ,


Facebook , google जैसा करना चाह रहा है :-




लोगो को लगता है YouTube से इनकम होती है , YouTube एक रुपया नही देता है किसीको , हकीकत तो यह है पैसे Google देता है , प्रचार जो देता है वो Google देता है , प्रचार भले दिखता YouTube पर है पर जो पैसा है वो Google देता है ,


यही सोच रहा है हमारा facebook की भय्या प्रचार दिखेगा facebook पर , पर प्रचार दिखाने वाले को हम लाएंगे whatsapp से , जैसे YouTube को आगे बढ़ाता है Google पीछे से YouTube को धक्के देता है ,उसी प्रकार से facebook को धकेलना चाहता है किससे whatsapp से 


ओर आपने देखा होगा YouTube पर ad प्रचार बहुत ही स्मूथली चलते है , जिसको जैसे ad दिखाने है उसको वही ad दिखाए जाते है ,आलतू फालतू ad नही आता है , अब facebook सोच रहा था हमारे  जो ad आता है वो इतना अच्छा नही आता है 


पर YouTube पर जो ad आते है जो जिस केटेगरी का है उसी केटेगरी का आता है ,तो facebook रिसर्च करना चालू किया कि YouTube ऐसा किया कैसे , तो उसे बहुत सी चीजें जानने को मिली , जैसे 


आप जब YouTube पर वीडियो अपलोड करते होंगे ना जब आपसे में तीन चीजे पूछी जाती है , सबसे पहले 100 अक्षर का आपसे title भरवाया जाता है , की आपने जो ये वीडियो बनाया है ये किस चीज से रिलेटेड है , 


जैसे हम लिखेंगे whatsapp new पॉलिसी इससे ही कुछ रिलेटेड लिखेंगे लेकिन 100 वर्ड में कितना लिखेंगे ,  अब इसके बाद आपसे नीचे हैशटैग लिखने को कहा जाता है यानी हेश लिखकर उसके आगे कुछ लिखे अब क्या होता है अगर कोई चीज title से मैच नही होती है 


तो वो हैशटैग से मैच करता है , अब इसके बाद टैग लिखने को कहता है कि उससे रिलेटेड टैग भरिये , ओर इसके बाद भी खत्म नही करते अब एक ओर चीज description भरने को कहते है , की आपने वीडियो में किन किन चीजों के बारे में बताए है ,


 यानिकि YouTube पहले ही पता कर लिए है कि आपका वीडियो किससे रिलेटेड है , यानी अगर मेरे वीडियो रहेगा तो उसका मेन title रहेगा whatsapp new पॉलिसी अब हैशटैग में क्या लगा देंगे #whatsapp #newपॉलिसी अब इसके बाद टैग में भी ऐसे ही जैसे 

whatsapp,new पॉलिसी, telegram, signal 


इस प्रकार से ओर description में भी लिख देंगे 

know  everything about whatsapp new पॉलिसी what we have your bank account , email id 


इसी प्रकार से उस वीडियो के बारे में मोटा मोटी लिख देंगे ,  तो ये सबकुछ उसे पता है कि पूरे वीडियो में कहा कहा कोनसी चीज है , इसके बावजूद आपसे ये सब जानकारी मांगता है हर किसी को ये सब वीडियो अपलोड करने से पहले भरना पड़ता है , 


इसके बावजूद भी आपसे ओर जानकारी मांगता है कि आप वीडियो में कोनसी भाषा का इस्तेमाल किये हो ,आप वीडियो में गलत भाषा या गलत चीजो को तो नही देखाय है ,


 मतलब ये सारी चीजें पहले ही भरवा लेता है अगर नही भरो तो वीडियो अपलोड ही नही करता है पहले ये सब भरने को कहते है , मतलब वीडियो अपलोड करने से पहले ही ये सब जानकारी वो हमसे ले लेता है


 इनके बाद भी वो पूछता है ये बच्चो के लिए यानी किड्स के लिए है या नही यानी हम जो समझा रहे है वो बच्चो के ऊपर से चला जाएगा इस लिए हमे भरना पड़ता है नही ये बच्चो के लिए नही है , मतलब बच्चो वाली ad इसमे नही आती , अब इसके बाद कहता है थंबनेल बनाइये , जैसे वीडियो में दिवाली की खुशियों के बारे में बात  हो रही है तो , YouTube को पता लग जाएगा कि ये खुशी वाली बात है इसमें दुःख वाली ad नही डाल सकते , 


ओर अब दूसरा समझते  है किसी वीडियो के ऊपर लिखा है इस दिवाली चीन को सबक सिखाना है , तो YouTube पहले से समझ जाएगा कि इस वीडियो पर चीन से रिलेटेड प्रचार नही करना जैसे वीवो का मोबाईल खरीदिये इस प्रकार के मतलब चाइना से रिलेटेड कुछ नही देगा , यानी आपकी वीडियो के अपलोड होने से पहले ही आपका डाटा किसके पास आ गया है YouTube के पास , 


अब YouTube सारा डेटा किसको दे देता है Google को , की ले भेया Google ये है इनका डेटा अब Google क्या करता है कि उनके हिसाब से उनको ad दिखता है जैसे बच्चो का नही है तो बड़ो वाला ad दिखाओ , किसी वीडियो में गलत बाते हो रही है तो उस वेडियो मे गलत ad दिखाओ मतलब केटेगरी वाइस मतलब हर कोई चीज पता कर लिया है ,


Whatsapp आपकी प्राइवेसी जानकर ये करेगा 


ससुरा यही चीज facebook करना चाहता  है ओर whatsapp के माध्यम से , जैसे आपने सारा जानकारी YouTube को दिया YouTube ने जानकारी Google को दिया और Google ने ऐसे ही ad YouTube में ठोस दिया , इसी प्रकार से whatsapp आपसे आपकी जानकारी लेगा और आपकी पसंद के अनुसार facebook और ad दिखाएगा इससे उसके ad रिलेवेंट कग सके 


इसी लिए ये नया पॉलिसी लाया है कि आप 8 फरवरी से पहले ये agree कर दीजिए वरना आपका वाट्सअप बैंड हो जाएगा , अब इससे इम्पेक्ट क्या पड़ेगा देखिए ये सब तो पहले ही whatsapp को पता था बस आपकी इजाजत ले रहा है ,



सबसे पहले आपके माइक का access लेगा , भैया व्हाट्सअप तो पहले से ही आपके whatsapp का ऐक्सेस लिया हुआ है आप कहते है ना माइक खोल के कहा है रे बस उसे पता चल जाता है ,



दूसरा आपसे आपके नेटवर्क का access ले रहा है , पर उसे पहले से पता है बस आपसे पूछ रहा है , आपने देखा होगा दो लोग वीडियो कॉल पर बात करते है तो लिखा आ जाता है बेड नेटवर्क यानी उसको तो पता लग गया कि आपका बेड नेटवर्क है या गुड नेटवर्क ,


 

अब एक ओर चीज का access मांग रहा है , की आप मोबाईल कोनसा इस्तेमाल कर रहे है , ट्विटर तो पहले से ही लेता था आपने देखा होगा अगर प्रधानमंत्री जी कोई ट्वीट करते है तो नीचे लिखा आता है ट्विटर फॉर आईफोन  मतलब की प्रधानमंत्री जी आईफोन इस्तेमाल करते है ,


अब व्हाट्सअप ये क्यो मांग रहा है , यानी कोई बंदा आइफोन से whatsapp मेसेज कर रहा है यानी वो अमीर है मतलब उसे ad अमीरो वाले दिखाओ ऑडी कार, मर्सडीज , ओर कोई सेमसंग से कर रहा है तो उसे मारूति सुजुकी , नेनो ,इंडिगो , इस टाइप का दिखाएगा 



साथ मे जो नया जोड़ रहा है आपकी लोकेशन का एक्सिस मांग रहा है इसके बाद आप लोकेशन चालू रखे या बंद रखे उसको कोई मतलब नही रहेगा एक बार आपने इस एग्रीमेंट को भर दिया इसके बाद आप कहा जा रहे है 


जैसे हम दिल्ली गए तो इसको whatsapp को पता लग जाएगा कि ये भाई दिल्ली गया है तो whatsapp क्या करेगा फटाक से ये जानकारी facebook को दे देगा और जब हम facebook खोलेंगे तो उसमें दिल्ली से रिलेटेड ad आएंगे जैसे आप लालकिले पर जाइये , आपको ये रेस्टोरेंट लेना चाहिए , ओला बुक कर लीजिए , यहां रहने का अच्छा जगह है, यह ऑफर है इस प्रकार से ये सारा का सारा काम करता है इतना आगे इनका सोच है ,


अब ये आपकी भाषा का भी access मांग रहे है whatsapp को अभी तक पता नही था आप कोनसी भाषा का प्रयोग कर रहे है वो उसकी मशीन को पता था , अब इससे फायदा क्या होगा जैसे हम हिंदी भाषा जानते है और हमे इंग्लिश में ad दिखाएगा की ये वो फलाना ढिमक्का तो वो उस ad को समझेगा कैसे इसलिए आपकी भाषा के अनुसार आपको ad दिखाया जाएगा , 


अब आपने एक बात और देखी होगी जब आप YouTube पर वीडियो देखते हो ना तो नीचे आपकी ही भाषा के वीडियो आएंगे ऐसा नही की आप हिंदी के वीडियो देख रहे है और आपको नीचे जो वीडियो रेसमेंडेड हो रहे है वो बंगाली भाषा के  , नही आप जिस भाषा के वीडियो देखना पसंद करते हो उसी भाषा के वीडियो आपको YouTube दिखाएगा , बस आप YouTube पर आपकी पसन्द के वीडियो देखते रहो


ओर एक बात और आप जो भी सर्च करते हो उसके हिसाब से भी आपको ad दिखाए जाते है आपकी सर्च की गई जानकारी सब उसको पता रहती है , इसी प्रकार से आपने सर्च Google पर किया कि टाटा की गाड़ी अच्छी है या महिन्द्रा की बस यही डेटा पहुँच जाता है YouTube पर ओर जब आप YouTube पर वीडियो देखते हो तो आपके सामने आ जाता है टाटा वर्सेज महिन्द्रा ओर आप फटाफट उस वीडियो को देखने लगे जाते हो ,



बस यही whatsapp कर रहा है आपने whatsapp पर कुछ किया और वो आपको facebook पर दिख देगा इतने बेहतरीन तरीके से ये नई अपडेट ला रहा है ,


ओर अभी तक इसमे कोई प्रॉब्लम नही दिख रहा है अब आगे समझते है , ये आपके मेसेज का भी access लेगा मतलब ये आपके कुछ कुछ मेसेज को स्टोर करके रखेगा जैसे आप अपने दोस्त से बात कर रहे है कि मुझे डेरी मिल्क खाना है सामने वाला बोलेगा अरे नही हमे तो चाउमीन खाना है


 बस ये दोनों आपस मे ये बात कर रहे है और whatsapp क्या करेगा आपके इस मैसेज ओर आपके नंबर को facebook को पहुचा देगा कि ये साहेब ये खाने का मन कर रहे है , बस आप उसी समय पर गलती से भी facebook खोल लिए आपके सामने डेरी मिल्क का  ad आएगा डेरी मिल्क खाती हुई लडक़ी बोलेगी क्या बात है मजे आ गए और आपके सामने जो चाउमीन की बात कर रहा है उसे चाउमीन के ad दिखाएंगे



अब होगा क्या बार बार आपको वो ad दिखाए जाएंगे , साला आप सोचोगे ये facebook कितना अच्छा है जिसका मन होता है उसका ही ad दिखता है , ओर बार बार वो ad आप देखोगे बस आप उसको खरीद लोगे ओर आपके खरीदने से कंपनी को फायदा होगा ,


यही तो हो रहा है यूटयूब पर आपकी जो मर्जी होती है आपको वही ad दिखाया जाता है इसलिए Google को कंपनी ज्यादा ad देती है क्योंकि उन्हें पता है कि Google कभी भी रिक्से वाले को मर्सडीज का ad नही दिखाएगा जिसको जो पसन्द है वही ad दिखाएगा , ओर facebook जो है पहले किसी को कुछ भी दिखा देता था ऐसे में इसके पास ज्यादा कंपनी ad नही देती थी ,


अब facebook की इसमे whatsapp app मदद करेगा , मान लीजिए आप चेट कर रहे है , हम जो बता रहे है वो आगे जाकर होगा अभी व्हाट्सअप ने बताया नही है पर इनका प्लान यही है , 


आप जो whatsapp में लिखेंगे जैसे आपने बिरयानी की बात करी या फिर चश्मे लेने की बात करि तो आप जैसे ही facebook पर जाओगे वहा ad आ जाएगा कि kfc से बिरियानी ऑर्डर करे , लेंसकार्ड से चश्मे ऑर्डर करे मतलब आप जिसका मन करोगे उस प्रकार से आपको ad दिखाए जाएंगे और ये उन ad से पैसे कमाएंगे ये ,


 ये आपको बिल्कुल भी डिस्टर्ब नही करने वाले आप जो कर रहे हो वो करो बस इनको मतलब है आपके पसन्द के ad दिखाने से ताकि ये ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा सके,


एक स्टोरी सुनाते है आपको एक लड़की को उसके बच्चे के लिए एक कंपनी की तरफ से फीडर दिया गया फीडर समझते हो वो दूध पिलाने वाला , अब वह महिला चोक गयी कि मुझे तो बच्चा ही नही है , तो कंपनी वालो ने कहा आप प्रेंग्नेंट है , अरे ससुरा मतलब उस कंपनी को पिछले 8 महीने से पता था वो उसके पति और उसकी सारी बातों को पड़ रहे थे ,


मतलब इनको सब कुछ पता रहता है अगर 1 जनवरी को सब कर रहे है हैप्पी न्यू ईयर , बस फटाक से Google को पता लग जाएगा और वो ad दिखाएगा नए साल  पर ये ऑफर, ये मिठाई लीजिए मतलब इस प्रकार से 


आज हमने क्या सीखा 


दोस्तो आज के इस ब्लॉग पोस्ट में मैने whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में पूरी तरह से आपको जानकारी दी है मुझे उम्मीद है आपको सारी जानकारी समझ आ गयी होगी , इसी प्रकार के टेक्नोलॉजी से जुड़े ब्लॉग देखने के लिए हमारी वेबसाइट से जुड़े रहे धन्यवाद

Tag :-

  1.  Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी क्या है 
  2. Whatsapp अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी से क्या करना चाहता है 
  3. Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी से हमे क्या खतरा है 
  4. Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी से हमे क्या लाभ या हानि है
  5. Whatsapp की प्राइवेसी पॉलिसी से whatsapp को क्या फायदा होने वाला है


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां